4
आज ब्लू है पानी पानी पानी …और दिन भी सानी सानी सानी... अरे अरे ये क्या ? क्या सोच रहा हूँ मैं ? ये क्या लिख दिया मैंने! ओह ! मन मेरा नाच रहा है एक ऐसी जगह में जहाँ आप डूब डूब के भी नहीं डूबेंगे लेकिन आप जरूर डूब जायेंगे ब्लू पानी के सागर में जहाँ की मस्ती आपको मस्ती से सराबोर और एक एक रोम को झकझोर कर देगी! अगर आप अपनी सोयी हुई रगों में एक नया तूफ़ान खड़ा करना चाहते हैं तो मेरे साथ चलिए कोलकाता के एक सुप्रसिद्ध वाटर पार्क एक्वाटिका (Aquatica) में , जहाँ आकर आप हो जायेंगे मदहोश और भर जायेगा रगों  में एक नया जोश!
        एक दिन व्हाट्सऐप पर
ऐसे ही हमलोगो ने ग्रुप चाट करते करते यहाँ आने का
अचानक प्लान बना लिया और जमशेदपुर से रात दो बजे की ट्रेन पकड़ कर पहुंच गए सुबह सुबह दस लोग हावड़ा। वहाँ  से लगभग एक-डेढ़ घंटे बस की दुरी पर राजारहाट में है एक्वाटिका। मुझे यहाँ के बारे पहले कुछ पता न था पर एक दोस्त सुमित का आईडिया था यहाँ आने का।  सो हम लगभग नौ बजे की सुबह पहुंच गए पानी की एक नयी दुनिया में।
     टिकट लेकर अंदर जैसे ही गए हमने देखा की अनेक लड़के लडकिया पानी के एक कृत्रिम सागर में ब्लू है पानी पानी कर रहे हैं। चारो तरफ एक से एक वाटर स्पोर्ट्स है और सब मस्ती में डूबे हुए हैं। तुरंत हमलोगों ने भी अपना अपना सामान लॉकर में रखा और कूद गए पानी में।
    जी हाँ मैं बात कर रहा हूँ इसी स्विमिंग वेव पूल की जहाँ सब मजा कर रहें है और ब्लू है पानी पानी की धुन में किसी को कुछ होश नहीं हैं ! पानी की फुहार और बनावटी समंदर के लहरो के थपेड़े सबके जिस्म को झूमने पे मजबूर कर रही हैं। स्टेज पे जैसे ही बजता है ब्लू है पानी पानी …… सब पागल जैसे झूमने लगते हैं और एक दूसरे से टकराते भी हैं। चीयर गर्ल्स के डांस देखकर सभी डांसिंग मूड में आ जाते हैं। मैं तो पूल के आखिरी छोर तक चला गया।  एक दो घंटे यहाँ  बाद हम दूसरे वाटर स्पोर्ट्स की ओर चले।
यहाँ अलग अलग तरह के पाइप हैं जिनमें पानी बहता रहता हैं और ऊपर चढ़कर सरकना पड़ता है। कुछ हाफ राउंड हैं और कुछ फुल राउंड में। इसका मजा बहुत अलग है दोस्तों। जब आप पुरे क्लोज्ड पाइप के अंदर से जाते हैं तो ऐसा लगता है की कुछ समय के लिए अँधेरे में खो गए।  एक बार तो मेरे पीठ में एक छिपकली दब के साथ साथ नीचे आ गया था। इसमें बहुत सारे मोड़ और घुमाव हैं जिससे बहुत तेज गति से सरकते हुए निचे के  पूल में सब गिर जातें हैं।
यूं तो यहाँ और भी बहुत सारे वाटर स्पोर्ट्स हैं जैसे की लेज़ी रिवर , फैमिली पूल , पेंडुलम , राफ्ट स्लाइड , निआग्रा फाल्स , साइक्लोन आदि।  सबका मजा अलग अलग है। पेंडुलम एक अच्छा राइड है जिसमे आप ऊपर से सरक कर एक पेंडुलम की भांति डोलते रहते हैं।














लगभग पांच घंटे यहाँ बिताने के बाद शाम को चार बजे हम वापसी के लिए काफी थकान वाली हालत में रवाना हुए। अगर आप भी यहाँ आना चाहते हैं तो यहाँ क्लिक करें http://www.aquaticaindia.in/
      इस हिंदी यात्रा ब्लॉग की ताजा-तरीन नियमित पोस्ट के लिए फेसबुक के TRAVEL WITH RD
 पेज को अवश्य लाइक करें या ट्विटर पर  RD Prajapati  फॉलो करें।

Post a Comment Blogger

  1. आज ब्लू है पानी पानी। ऐसी गर्मी में तो ये जगहें स्वर्ग के समान हैं।

    ReplyDelete
    Replies
    1. जी बिलकुल..........

      Delete
  2. आज तो सच में ब्लू ही हो रहा है पानी ! बढ़िया राम भाई

    ReplyDelete
    Replies
    1. धन्यवाद् योगीजी !

      Delete

 
Top