दार्जिलिंग यात्रा: यहाँ से आप देख सकते हैं कंचनजंघा का सुनहरा नजारा (Tiger Hill, Darjeeling, West Bengal)

क्या आपने कभी किसी भी हिमालय की बर्फ वाली चोटी के दर्शन किये हैं ? बर्फीले पहाड़ पे कदम रखना किसी जन्नत पे कदम रखने के जैसा ही है लेकिन हर किसी को ऐसा मौका ही नसीब नहीं हो पाता। खैर जो भी हो लेकिन कम से कम आप दूर से ही उन बर्फ से ढके प्रकृति के एक अद्भुत सौंदर्य को देखकर कुछ सुकून जरूर महसूस कर सकते हैं। चलिए आपको ले चलते हैं एक ऐसी ही जगह पर जहाँ से आप हिमालय की तीसरी सबसे ऊँची चोटी के मनमोहक दृश्य का दीदार कर सकते हैं।

गंगटोक यात्रा: यमथांग घाटी- सिक्किम का स्वर्ग (Yumthang Valley: The Heaven of Sikkim)

गंगटोक यात्रा: नाथुला पास- एक बर्फ़ीली सरहद पर सिकुड़ते हुए कदम (Nathula Pass, Sikkim)

Also Read:  जमशेदपुर से दीघा तक- नैनो और पल्सर (Jamshedpur to Digha: 300km by Nano and Bike)

वो सबसे नजदीकी टापू और गंगा का समंदर में समा जाना (Sagar Island, Gangasagar)

भारत की सांस्कृतिक राजधानी की एक झलक (Glimpses of the City of Joy: Kolkata)

आईये देखें देश का सबसे बड़ा संग्रहालय (Indian Museum, Kolkata)

Bodh Gaya: The top reason to visit Bihar

A Brief Guide to Darjeeling and Gangtok (Sikkim)

A Brief Guide to Puri, Konark & Bhubaneshwar and Chilika Lake

हाँ आपने सही देखा है। आप देख रहे हैं दार्जिलिंग से दस किलोमीटर की दुरी पर
स्थित टाइगर हिल से उगते हुए सूरज का एक गजब नजारा। लगभग नौ हजार फ़ीट की ऊंचाई पर है यह टाइगर हिल जिसे देखने हम सुबह चार बजे की भोर से ही निकल पड़े थे। रास्ते में अनेक खूबसूरत पेड़ और वादियो के बीच से गुजरते हुए हम आधे घंटे में वहां पहुँच गए। टिकट लेकर जब हम व्यू पॉइंट पर चढ़े तो देखा की सुबह से ही काफी भीड़ लगी हुई है। मार्च का महीना था इसीलिए मौसम साफ़ था वरना अस्सी प्रतिशत लोगों को बादलों के कारण इस दिलचस्प नज़ारे से महरूम होकर निराश लौटना पड़ता है।

Also Read:  अयोध्या पहाड़: पश्चिम बंगाल (Ayodhya Hills, West Bengal)

जैसे ही सूरज की पहली किरण दिखाई पड़ी ऐसा लगा मानो एक विशाल काले समंदर में कोई दीपक जगमगा रहा है। लोग इस नज़ारे को कैमरे में कैद करने लिए धक्का मुक्की भी करने लगे। पहाड़ो का रंग बिलकुल काला ही था जो की काफी डरावना भी लग रहा था। धीरे धीरे किरणो की अद्भुत छटा कालेपन को चीरने लगी और तब हमें दूर आसमान में एक सुनहरी छटा दिखाई दी। सब आश्चर्य से कहने लगे अरे वाह ! यही तो है कंचनजंघा ! क्या सीन है !  सफ़ेद बर्फ की चोटी पर सूरज की किरणे जब पड़ रही थी , तब इसकी चाँदी वाली चमक सुनहरी छटा में तब्दील हो रही थी।

Also Read:  A Brief Guide to Darjeeling and Gangtok (Sikkim)

कुछ देर बाद सूरज काफी ऊपर आता गया और लोगो की भीड़ छँटती चली गयी। चाय कॉफी वालो की लाइन लगी थी जो की यहाँ काफी महंगे बिक रहे थे। अब हम भी अपने होटल की ओर बढ़ चले थे दार्जिलिंग के अन्य जगहों की सैर करने।

अब दार्जिलिंग के कुछ अन्य चित्र-

Like Facebook Page: facebook.com/travelwithrd

Follow on Twitter: twitter.com/travelwithrd

Subscribe to my YouTube channel: YouTube.com/TravelWithRD.

email me at: travelwithrd@gmail.com