पुरी के समुद्री आहार (Puri Sea Food)

मेरी राय में इस दुनिया में मजा सिर्फ दो ही चीजो में है एक घूमना और दूसरा खाना। तो क्यों ना हम घूमने के साथ साथ खाने पे भी चर्चा करे।

क्या आप इस चित्र को गौर से देख रहे हैं? अगर आप मछली खाने के शौकीन हैं तो विभिन्न प्रकार की समुद्री मछलियाँ आपको बहुत पसंद आएँगी.

पुरी, कोणार्क और भुबनेश्वर की एकदिवसीय त्रिकोणीय यात्रा (Puri, Konark and Bhubaneshwar)

Also Read:  A Brief Guide to Puri, Konark & Bhubaneshwar and Chilika Lake

चिल्का में चिलकारी: जब झील गया समंदर में मिल (Chilka Lake)

यह नजारा पुरी के समुद्र तट का है जहाँ आपको हर तरह की समुद्री मछलियो का मजा मिल जायेगा। मैंने भी कभी ऐसी मछलियां नहीं खायी थी लेकिन पुरी आने पर पहली बार इन्हें चखा। इन्हें बेसन के साथ तल के खाया जाता है।

समुद्री मछलियाँ जिन्हें sea food भी कहा जाता है इनका एक अलग जायका होता है। सबसे मुख्य मछलियो में जिनका नाम आता है उनमे से एक है प्रॉन (prawn). यह वही है जिसे आपने अपने शहर में चिंगड़ी के नाम से खाया होगा। लेकिन यहाँ पर बहुत बड़ी आकार की चिंगडियो को ही प्रॉन कहा जाता है। इनका स्वाद सबसे अलग होता है।

Also Read:  चिल्का में चिलकारी: जब झील गया समंदर में मिल (Chilka Lake)

एक अन्य का नाम है पॉम्फ्रेट (pomfret) यह पतंग जैसी आकृति की होती है। यह बहुत सामान्य एवं लोकप्रिय प्रकार की मछली है जो लगभग हर समुद्री तट पर मिल जायगी। अन्य मछलियो में भिटकी वगेरह आते हैं।

Also Read:  पुरी, कोणार्क और भुबनेश्वर की एकदिवसीय त्रिकोणीय यात्रा (Puri, Konark and Bhubaneshwar)

मछलियों के अलावा कुछ अन्य जीवों को भी खाया जाता है  जैसे केकड़ा, सीप, घोंघा इत्यादि। वैसे कोई भी व्यक्ति इन्हें पसंद नही कर सकता, सिर्फ sea food के शौकीन ही ऐसा कर सकते है।

Like Facebook Page: facebook.com/travelwithrd

Follow on Twitter: twitter.com/travelwithrd

Subscribe to my YouTube channel: YouTube.com/TravelWithRD.

email me at: travelwithrd@gmail.com