Category: North East India

पूर्वोत्तर भारत: इनर लाइन परमिट कैसे प्राप्त करें? (How to Obtain Inner Line Permit for North East India)

यूँ तो अपने देश में एक नागरिक को किसी भी राज्य या भूभाग में बिना किसी रोक-टोक के स्वछन्द यात्रा करने की अनुमति संविधान के द्वारा प्राप्त है, फिर भी बहुत कम लोगों को इस बात की जानकारी है की देश के कुछ संवेदनशील इलाके ऐसे भी हैं जहाँ एक आम नागरिक को पहुँचने के

चेरापूँजी: दुनिया का सर्वाधिक वर्षा वाला स्थान (Cherapunjee: The wettest land on Earth)

मेघालय! जिसका नाम सुनते ही बादलों का ख्याल आता है और चेरापूंजी का नाम सुनते ही बरसात का ख्याल आता है! एक समय यह दुनिया का सबसे अधिक वर्षा वाला स्थान था लेकिन पड़ोस के मसीनराम ने इसे दूसरे पायदान पर खिसका दिया है, फिर भी अभी तक चेरापूंजी ही अधिक प्रसिद्द है। हम अधिकतर

डॉन बोस्को म्यूजियम: एक ही छत के नीचे सम्पूर्ण पूर्वोत्तर भारत (Don Bosco Museum, Shillong, Meghalaya)

म्यूजियम या संग्रहालय तो आपने बहुत सारे देखे होंगे, कुछ छोटे तो कुछ बड़े। अधिकतर संग्रहालयों में पुरातत्व से संबंधित चीजें ही रखी होती है, आजकल के कुछ आधुनिक संग्रहालयों में कला-संस्कृति से जुड़े ऑडियो-विज़ुअल प्रदर्शन भी दिखाए जाते हैं। पूर्वोत्तर भारत के शिलोंग स्थित ऐसा ही एक बहुत बड़ा आधुनिक संग्रहालय स्थित है जो न केवल

मेघालय यात्रा: शिलॉंग भ्रमण- लेडी ह्याद्री पार्क और शिलॉंग गोल्फ कोर्स (Shillong Sightseeing: Lady Hyadri Park and Shillong Golf Course)

पिछली पोस्ट में अब तक हम शिलॉंग स्थित एक बड़े चर्च कैथेड्रल मेरी देख चुके थे। इसके बाद दो पड़ाव और बाकि थे- एक था शहर के बीचों बीच स्थित लेडी ह्याद्री पार्क तथा दूसरा एशिया का एक प्राकृतिक गोल्फ कोर्स। पूरब के स्कॉटलैंड- मेघालय यात्रा की तैयारियाँ (Scottland of the East- Meghalaya) मेघालय यात्रा: शिलॉंग

मेघालय यात्रा: शिलॉंग भ्रमण- शिलॉंग व्यू पॉइंट, एलिफेंट फॉल्स, और कैथेड्रल ऑफ़ मैरी चर्च (Meghalaya-Shillong Sightseeing-Shillong View Point, Elephant Falls and Cathedral of Marry Church)

भारत के सात पूर्वोत्तर राज्यों जिन्हें सेवन सिस्टर्स (Seven Sisters) भी कहा जाता है, मेघालय उनमें से एक है। सत्तर के दशक के शुरुआत तक मेघालय भी असम राज्य का ही हिस्सा हुआ करता था, बाद में इसे एक अलग राज्य का दर्जा दिया गया और शिलांग इसकी राजधानी बनी, परन्तु विभाजन के पहले से ही शिलांग दोनों राज्यों की