29 जुलाई 2016: मिशन लद्दाख का आठवां दिन। नुब्रा घाटी के रेगिस्तानी भूभाग में दो कूबड़ वाले ऊँटों को देखना आज की यात्रा का मुख्य मकसद था! पेंगोंग में एक रोमांचक वक़्त बिताने के बाद आज हमें नुब्रा घाटी के लिए निकलना था, लेकिन वहां ठहरने का कोई कार्यक्रम नहीं था, सिर्फ खारदुंगला होते हुए लेह वापस आ जाना था। पेंगोने से नुब्रा की दूरी